Director's Message

देश में राम राज्य केवल देशी गाय ही ला सकती है क्रमशः

A) देशी गाय के गोबर और गोमूत्र में इतने जीवाणु होते है की एक गाय से ३० एकड़ खेती हो जाएगी इसका परिणाम ये होगा की २.५ लाख करोड़ तो खाद से बचेंगे - १ लाख करोड़ कीटनाशक की दवाई के बचेंगे और जो इसके खाने से बीमार हो रहे है उस से २ लाख करोड़ बचेंगे , देश स्वस्थ होगा ।

B) जब हम जीवामृत ( १० kg गोबर , १० लीटर गोमूत्र , १ kg बेसन , १ kg गुड़ का घोल ) ज़मीन में देंगे तो उस से ज़मीन में केंचुए पैदा हो जाते है ये केंचुए ज़मीन में इतने छेद कर देते है की बारिश का पानी पूरा ज़मीन में चला जाता है जिससे वाटर लेवल बढ़ जाता है और पानी खेत से बाहर जाता नहीं , जब खेत से बाहर नहीं जाएगा तो बाढ़ नहीं आएगी , बाढ़ से जो करोड़ों का नुक़सान होता है वो नहीं होगा । जब पानी ज़मीन के अंडर जाएगा तो पानी के लेवल बढ़ेगा , जो ज़मीन में ४००- ५०० फ़ीट नीचे चला गया है अगले १० सालों में ४० -५० फ़ीट पर आ जाएगा . इसका फ़ायदा ये होगा की जो हमारी बिजली आज ५० हज़ार मेगावाट ख़र्च हो रही है वो केवल १० हज़ार मेगावाट रह जाएगी , जब बिजली इतनी कम हो जाएगी तो हमको कोयला कम जलाना पड़ेगा जब कोयला कम जलेगा तो पर्यावरण बचेगा . जब पर्यावरण बचेगा तो हम भी बचेंगे , और जब हम ज़ीरो बजट से खेती करेंगे तो किसान को फ़सल से तीन गुना लाभ होगा , जब किसान ख़ूशहाल होगा उसके बच्चे जो आज शहर में आकर गॉर्ड , की नोकरी या बेरोज़गार घूम रहे है , जब आदमी बेरोज़गार होता है तो कुछ भी ग़लत काम , चोरी डकैती करता है , जब उसको खेत में ही काम मिल जाएगा तो ग़लत काम नहीं करेगा । इस तरह राम राज्य आ जाएगा ..

संस्थापक

श्री राकेश उपाध्याय
फोन:    ९९२६१८५००१


Subscribe to Our Weekly NewsLetter and Stay Tuned.